Connect with us

विदेश

भारत ने हौथी विद्रोहियों के खिलाफ अदन की खाड़ी में तैनात किया INS Kochi

Published

on

India Deploys INS Kochi

इजराइल और गाज़ा के बीच जारी युद्ध के साथ-साथ लाल सागर में हौथी विद्रोहियों द्वारा की गई भारी तबाही की चर्चा में है। यह व्यापारिक मार्ग दुनिया के व्यापार के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है और विद्रोहियों द्वारा इस पर लगातार हमले किए जा रहे हैं। इससे व्यापार करने वाले देशों को काफी परेशानी हो रही है। अमेरिका जैसे देश ने तो इस पूरे मार्ग को सुरक्षित बनाने के लिए अलग से टास्क फोर्स तैयार करने की बात तक कह दी है, जिसमें 10 देशों की सेनाओं को मिलाकर एक टास्क फोर्स बनाई जाएगी। यह टास्क फोर्स इस पूरे मार्ग पर सभी व्यापारिक जहाजों की सुरक्षित आवाजाही सुनिश्चित करेगी।

विद्रोहियों द्वारा इजराइल से जुड़े जहाजों को लगातार निशाना बनाया जा रहा है और उन्हें बंधक बनाने की कोशिश की जा रही है। भारत भी इस व्यापारिक मार्ग के माध्यम से रूस से तेल लाता है। ऐसी स्थिति में, भारत के लिए भी बड़ी चिंताएं हैं क्योंकि अगर यह मार्ग बदलता है, जैसा कि कई व्यापारी इस मार्ग का उपयोग करना बंद कर रहे हैं, तो इससे सामान की डिलीवरी भी महंगी हो जाएगी और अधिक समय लगेगा। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारत हमेशा से वाणिज्यिक जहाजों की स्वतंत्र आवाजाही का समर्थक रहा है और इसमें रुचि रखता है। भारत इस पूरे मामले पर गंभीर नजर रख रहा है और घटित हो रही गतिविधियों की लगातार निगरानी कर रहा है।

Advertisement

घटना की बात करे तो, समुद्री डाकुओं द्वारा एक माल्टा ध्वज वाले मालवाहक जहाज के अपहरण के बाद, भारतीय नौसेना ने अपने समुद्री डकैती रोधी मिशन को तेज कर दिया है। इसके तहत, भारत ने अदन की खाड़ी में एक और स्वदेशी निर्देशित मिसाइल विध्वंसक पोत, INS Kochi, तैनात किया है। रक्षा मंत्रालय की विज्ञप्ति के अनुसार, भारतीय नौसेना इस क्षेत्र में व्यापारिक जहाजों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और समुद्री नाविकों को हर संभव सहायता उपलब्ध कराने के लिए वचनबद्ध है।

14 दिसंबर 2023 की रात को, यूनाइटेड किंगडम समुद्री व्यापार संचालन (UKMTO) के पोर्टल पर माल्टा के ध्वज वाले जहाज MV Run पर संभावित समुद्री डकैती की घटना की जानकारी मिली। इसके बाद, भारतीय नौसेना का समुद्री गश्ती पोत 15 दिसंबर 2023 को MV Run जहाज की तलाश में पहुंचा और चालक दल के साथ संचार स्थापित किया। चालक दल के 18 सदस्यों में से कोई भी भारतीय नहीं था, लेकिन सभी को सुरक्षित बताया गया।

Advertisement

इस घटना के बाद, INS Kochi को अदन की खाड़ी में समुद्री डकैती रोधी गश्त के लिए तुरंत रवाना किया गया। 16 दिसंबर 2023 को, INS Kochi ने MV Run को रोकने का प्रयास किया और अपना एक हेलीकॉप्टर भी भेजा। चालक दल से मिली सूचना के अनुसार, MV Run जहाज पर आंतरिक ढांचे को नुकसान पहुंचाया गया था और समुद्री लुटेरों ने सभी सदस्यों को बंधक बना लिया था। वारदात के समय चालक दल के एक सदस्य को चोट भी आई थी, लेकिन उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। 16 दिसंबर को ही एक जापानी युद्धपोत भी इस जल क्षेत्र में पहुंचा और बाद में स्पेनिश युद्ध पोत भी आया।

इज़राइल और गाज़ा के बीच जारी युद्ध, हौथी विद्रोहियों की गतिविधियां, और लाल सागर के माध्यम से होने वाले वैश्विक व्यापार पर उनके प्रभाव के साथ-साथ भारत की चिंताओं और कार्रवाइयों का दबाव बढ़ गया है। उम्मीद की जा रही है की जल्द ही एक बड़ा एक्शन देखने को मिल सकता है। 

Advertisement

“नौचक्रं दुर्गमं कृत्वा पारं यान्ति मनीषिणः।”

Hindi Meaning: “बुद्धिमान लोग समुद्र को अपना दुर्ग बनाकर पार कर जाते हैं।”

Advertisement

Relation with the Article:

यह श्लोक भारतीय नौसेना के इस साहसिक और रणनीतिक कदम के साथ संबंधित है जिसमें उन्होंने अदन की खाड़ी में INS Kochi को तैनात किया। यह कदम न केवल समुद्री डकैती और हौथी विद्रोहियों के खिलाफ एक सुरक्षा उपाय है, बल्कि यह भारतीय नौसेना की रणनीतिक बुद्धिमत्ता और समुद्री क्षेत्र में उनकी सामर्थ्य का प्रतीक भी है। जैसा कि श्लोक में कहा गया है, बुद्धिमान लोग (यहाँ पर भारतीय नौसेना) समुद्र को अपना दुर्ग बनाकर (यानी सुरक्षित और संरक्षित करके) अपने उद्देश्यों की प्राप्ति करते हैं। इस प्रकार, यह श्लोक और इसका अर्थ भारतीय नौसेना के इस कदम के साथ गहराई से संबंधित है।

Advertisement

ये भी जानें –

क्रमांक शब्द विवरण
1 Houthi (हौथी) हौथी, यमन के एक विद्रोही समूह हैं जो वहाँ की सरकार के खिलाफ लड़ रहे हैं। इनका मुख्य उद्देश्य अपने राजनीतिक और धार्मिक विचारों को स्थापित करना है। इनकी गतिविधियाँ अक्सर अंतरराष्ट्रीय समुद्री सुरक्षा के लिए खतरा बन जाती हैं।
2 अदन की खाड़ी (Gulf of Aden) अदन की खाड़ी, अफ्रीका और एशिया के बीच स्थित, एक महत्वपूर्ण समुद्री मार्ग है। यह व्यापार और नौवहन के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है, लेकिन समुद्री डकैती और राजनीतिक अस्थिरता के कारण यह क्षेत्र अक्सर सुरक्षा चुनौतियों का सामना करता है।
Advertisement