Connect with us

देश

India-Indonesia free visa : इंडोनेशिया ने भारतीयों को दिया मुफ्त वीजा प्रस्ताव

Published

on

प्रस्तावना- इंडोनेशियाई पर्यटन और क्रिएटिव इकोनॉमी मंत्रालय ने हाल ही में एक अहम पहल की है, जिसमें 20 देशों के यात्रियों को मुफ्त वीजा प्रदान करने का प्रस्ताव रखा गया है। इस पहल का उद्देश्य पर्यटन को बढ़ावा देकर इंडोनेशिया की अर्थव्यवस्था में उल्लेखनीय योगदान करना है। इस सूची में ऑस्ट्रेलिया, चीन, भारत, दक्षिण कोरिया, अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, और जर्मनी जैसे प्रमुख देश शामिल हैं।

मुफ्त वीजा प्रवेश और आर्थिक सहयोग:
मुफ्त वीजा प्रस्ताव से न केवल इंडोनेशिया की अर्थव्यवस्था को बल मिलेगा, बल्कि इससे विश्व भर के देशों के साथ आर्थिक संबंध भी मजबूत होंगे। पर्यटन क्षेत्र के विकास से स्थानीय व्यापार, निवेश, और डिजिटल अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहन मिलेगा। इससे न केवल रोजगार के नए अवसर बढ़ेंगे, बल्कि स्थानीय संस्कृति और परंपराओं के प्रचार-प्रसार में भी मदद मिलेगी।

Advertisement

भारत-इंडोनेशिया के राजनीतिक, सांस्कृतिक और विदेशी संबंध:
भारत और इंडोनेशिया के बीच गहरे राजनीतिक और सांस्कृतिक संबंध है और ये सम्बन्ध दशकों से निरंतर मजबूत होते जा रहे हैं। दोनों देशों के बीच साझा सांस्कृतिक विरासत और विचारों का आदान-प्रदान होता है, विशेष रूप से व्यापार, शिक्षा, और पर्यटन के क्षेत्र में यह और भी ज्यादा हुआ है।

भारतीयों का विदेश यात्रा के प्रति रुझान:
विगत कुछ वर्षों में भारतीय नागरिकों में विदेश यात्राओं के प्रति रुझान में काफी वृद्धि देखी गई है। विशेष रूप से युवा पीढ़ी नए अनुभवों और सांस्कृतिक आदान-प्रदान के लिए विदेश यात्रा को तरजीह दे रही है। इंडोनेशिया जैसे देशों का मुफ्त वीजा प्रस्ताव भारतीय पर्यटकों के लिए एक आकर्षक विकल्प साबित हो सकता है।

Advertisement

विदेशी पर्यटकों का स्थानीय अर्थव्यवस्था पर प्रभाव:
विदेशी पर्यटकों की आमद से स्थानीय अर्थव्यवस्था को काफी बढ़ावा मिलता है। वे स्थानीय होटलों, रेस्तराओं, और बाजारों में खर्च करते हैं, जिससे स्थानीय व्यवसायों और सेवाओं को लाभ होता है। इससे स्थानीय समुदायों के जीवन स्तर में सुधार होता है और रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होते हैं।

भारतीयों के लिए मुफ्त वीजा प्रदान करने वाले देशों की सूची

Advertisement

यहां उन देशों की सूची दी गई है जो भारतीय नागरिकों को बिना वीजा, ई-वीजा या वीजा-ऑन-अराइवल की सुविधा प्रदान करते हैं। कृपया ध्यान दें कि वीजा नीतियां समय-समय पर बदल सकती हैं, इसलिए यात्रा की योजना बनाने से पहले आधिकारिक स्रोतों से नवीनतम यात्रा सलाह और वीजा आवश्यकताओं की जांच करना सुनिश्चित करें।

क्रम देश का नाम वीजा नीति
1 भूटान वीजा-मुक्त
2 इंडोनेशिया वीजा-ऑन-अराइवल
3 मालदीव वीजा-ऑन-अराइवल
4 नेपाल वीजा-मुक्त
5 श्रीलंका ई-वीजा
6 थाईलैंड वीजा-ऑन-अराइवल / ई-वीजा
7 मॉरीशस वीजा-मुक्त
8 सेशेल्स वीजा-ऑन-अराइवल
9 फिजी वीजा-मुक्त
10 जमैका वीजा-मुक्त
11 इक्वाडोर वीजा-मुक्त
12 सर्बिया वीजा-मुक्त
13 कतर ई-वीजा
14 कंबोडिया ई-वीजा / वीजा-ऑन-अराइवल
15 बोलीविया वीजा-ऑन-अराइवल
16 जॉर्डन वीजा-ऑन-अराइवल
17 केन्या ई-वीजा / वीजा-ऑन-अराइवल
18 जिम्बाब्वे ई-वीजा / वीजा-ऑन-अराइवल

यह सूची भारतीय नागरिकों को विदेश यात्रा के लिए अधिक सुगमता प्रदान करती है, जिससे उन्हें इन देशों की यात्रा करने में सहूलियत होती है।

Advertisement

निष्कर्ष :
इंडोनेशिया का यह प्रस्ताव न सिर्फ इंडोनेशिया के पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देगा, बल्कि विश्व भर के देशों के साथ इसके संबंधों को भी मजबूत करेगा। इस प्रकार के प्रयासों से अंतरराष्ट्रीय समुदाय में सांस्कृतिक और आर्थिक सहयोग बढ़ता है। संस्कृत श्लोक “यत्र विश्वं भवत्येक नीडम” का अर्थ है “जहां पूरा विश्व एक घोंसले की तरह होता है।” यह श्लोक इस बात का प्रतीक है कि वैश्विक समुदाय को एकजुटता और साझेदारी की भावना के साथ काम करना चाहिए, जिससे सभी के लिए एक समृद्ध और संपन्न वातावरण सृजित हो।

Advertisement
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *