Connect with us

टेक-ऑटो

Display: कौन सा चुनें – LED बनाम LCD बनाम AMOLED बनाम OLED?

Published

on

OLED vs AMOLED vs LED vs LCD

प्रायः देखा गया है की लोग सही डिस्प्ले को चुनने में काफी दुविधा में होते हैं। ऐसा इसलिए हैं क्यूंकि उन्हें इनके बारे मैं सही जानकारी नहीं हैं। इस आर्टिकल में मैं आपको विभिन्न प्रकार के डिस्प्लेस पर प्रकाश डालूंगा। इस आर्टिकल को एक बार पढ़ने के बाद आप सही निर्णय ले पाएंगे। 

आधुनिक युग में डिस्प्ले तकनीक का महत्व अत्यधिक बढ़ गया है। हर उपकरण की डिस्प्ले (Display)उसकी कार्यक्षमता और अनुभव को परिभाषित करती है। सही डिस्प्ले चुनना उपयोगकर्ता(user) के लिए अहम हो जाता है। ये भी ध्यान देने योग्य बात है की विभिन्न प्रकार के डिस्प्ले अलग-अलग आवश्यकताओं को पूरा करते हैं।

Advertisement

तकनीकी विकास ने डिस्प्ले की दुनिया को क्रांतिकारी रूप से बदल दिया है। OLED, AMOLED, LED, और LCD वर्तमान में प्रमुख डिस्प्ले तकनीकें हैं। प्रत्येक तकनीक की अपनी खासियत और उपयोगिता होती है। उपभोक्ता को सही चुनाव करने के लिए जानकारी की जरूरत होती है।  इस आर्टिकल में आप इन डिस्प्ले के बारे में विस्तार से जानेंगे।

OLED vs AMOLED vs LED vs LCD

OLED vs AMOLED vs LED vs LCD

1.OLED ओलेड 

OLED, ऑर्गेनिक लाइट-एमिटिंग डायोड(Organic light emitting diode) का संक्षिप्त रूप है। इसमें प्रत्येक पिक्सल स्वयं प्रकाश उत्सर्जित करता है। यह तकनीक उच्च कंट्रास्ट और गहरे काले रंग प्रदान करती है। OLED डिस्प्ले में उत्कृष्ट रंग की सटीकता होती है।इसका मतलब है की जब आप कोई भी मूवी या वीडियो इसमें देखंगे तो वो बहुत ही बेहतरीन व रंग निखार के आएंगे। इसमें ब्राइटनेस काफी बढ़िया होती है। 

oled

OLED Display

इसमें बेहतरीन व्यूइंग एंगल्स और तत्काल प्रतिक्रिया(रिएक्शन टाइम) समय होता है।बेहतरीन व्यूइंग एंगल्स का तात्पर्य है की आप अगर की आप अगर स्क्रीन के कोने में भी बैठें है तो भी आप आराम से स्क्रीन पर चलचित्र साफ़ साफ़ देख सकतें है। रिएक्शन टाइम काफी अच्छा होता है। 

OLED ऊर्जा कुशलता (save battery)में भी अग्रणी है।ओलेड फ़ोन की बैटरी सेविंग कैपेसिटी अच्छी होती है। OLED पैनल्स का जीवनकाल परंपरागत डिस्प्ले से कम होता है। इनमें बर्न-इन की समस्या अधिक होती है। OLED तकनीक की लागत अन्य विकल्पों से अधिक होती है।अगर किसी फ़ोन में या टीवी या फिर लैपटॉप में ओलेड है तो उसका दाम अधिक होता है। 

Advertisement

2. अमोलेड AMOLED 

AMOLED का पूरा नाम  ‘Active Matrix Organic Light Emitting Diode’ है। यह तकनीक उन्नत OLED डिस्प्ले तकनीक पर आधारित है। AMOLED डिस्प्ले अधिक पतले, फ्लेक्सिबल और दक्ष होते हैं। AMOLED डिस्प्ले अत्यंत ऊर्जा कुशल (पावर सेवर) होते हैं। इनमें उत्कृष्ट रंग विपरीतता और चमक होती है। AMOLED तकनीक स्मार्टफोन्स और स्मार्ट वॉचेस के लिए आदर्श या अनुकूल है। आजकल के मोबाइल फ़ोन्स में अमोलेड डिस्प्ले लगे होते हैं। और इन फ़ोन्स की कीमत बाकियों से ज्यादा होती है। 

AMOLED

AMOLED Display

AMOLED और OLED में अंतर

AMOLED में प्रत्येक पिक्सल का स्वतंत्र नियंत्रण होता है। इसमें तेज़ रिफ्रेश रेट और बेहतर बैटरी प्रबंधन होता है। OLED की तुलना में AMOLED अधिक उज्ज्वल और विविध रंग प्रदान करता है।

 

Advertisement

3.LED एलईडी 

LED का पूरा नाम ‘Light Emitting Diode’ होता है। यह तकनीक छोटे दीपकों (Diodes) का उपयोग करती है। LED प्रकाश उत्सर्जन में बेहद कुशल और दीर्घकालिक होते हैं। LED तकनीक की विशेषताएँ ये है की LED डिस्प्ले अधिक उज्ज्वलता और चमक प्रदान करते हैं। ये ऊर्जा दक्षता(पावर सेविंग) में उच्च रैंकिंग प्राप्त करते हैं। LED पैनल्स का जीवनकाल लंबा होता है।

LED बल्ब्स बिजली बचत करती हैं

Advertisement
LED Display

LED Display

LED बनाम OLED/AMOLED 

LED, OLED और AMOLED से अधिक सस्ते होते हैं। इनमें बर्न-इन की समस्या कम होती है। हालांकि, रंग प्रदर्शन में ये OLED/AMOLED से पीछे होते हैं। इसका मतलब उपयोगकर्ता एक बार ओलेड ये अमोलेड का इस्तेमाल कर लेगा तो उसे  एलईडी पसंद नहीं आएगा। अपने अनुभव  से मैं आपको बताना चाहूंगा की LED से OLED/AMOLED में viewing (यूजर के  स्क्रीन पर कुछ देखने का ) अनुभव काफी अच्छा होता है। अगर मौका मिले तो ओलेड या अमोलेड की तरफ जरूर जाएँ।

4 . LCD एलसीडी 

LCD का पूर्ण रूप ‘Liquid Crystal Display’ होता है। यह प्रकाश प्रतिबिंबित करने वाली क्रिस्टल्स पर आधारित है। LCD पुरानी लेकिन विश्वसनीय डिस्प्ले तकनीक है। LCD ऊर्जा कुशलता में प्रभावी होते हैं। यह तकनीक उचित मूल्य पर उपलब्ध होती है। एलसीडी इन सब एलईडी अमोलेड और ओलेड से पहले की तकनीक हैं। इसमें अगर आप अपने देखने का एंगल  बदलते हो तो आपको ठीक प्रकार से दिखाई नहीं देगा। 

LCD Display

LCD Display

LCD बनाम LED/OLED/AMOLED

LCD डिस्प्ले आमतौर पर कम लागत वाले होते हैं। इनमें रंग और कंट्रास्ट OLED/AMOLED से कम होता है। LED और OLED के मुकाबले इसमें प्रकाश वितरण में अंतर होता है। एलसीडी के मुकाबले ओलेड और अमोलेड आपको कई गुना बेहतर अनुभव देगी। 

Advertisement

नई तकनीकों का विकास

भविष्य में डिस्प्ले तकनीक और भी उन्नत की जाएगी। फ्लेक्सिबल और ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले पर शोध किया जा रहा है। ऊर्जा दक्षता(पावर सेविंग) और स्थायित्व पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।फ्लेक्सिबल डिस्प्ले का मतलब है की आप डिस्प्ले को मोड़ भी सकते हैं बिना किसी क्षति के। ये अक्सर OLED या AMOLED तकनीक पर आधारित होते हैं क्योंकि ये मटेरियल अधिक लचीले होते हैं। इस तकनीक का उपयोग फोल्डेबल फोन्स, रोलेबल टीवी स्क्रीन्स, और अन्य नवीन उपकरणों में हो रहा है।

ट्रांसपेरेंट का मतलब है की उसके आर- पार आप देख सकते हैं। लेकिन वो एक डिस्प्ले है जिसमे आप चल चित्र देख सकते हैं। ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले, पारदर्शी स्क्रीन होते हैं जिनसे आप पीछे की चीजें देख सकते हैं। ये आमतौर पर OLED तकनीक का उपयोग करते हैं क्योंकि इसमें बैक लाइट की आवश्यकता नहीं होती। इसका उपयोग विज्ञापन, हेड-अप डिस्प्ले, और भविष्य के स्मार्ट घर उपकरणों में हो सकता है।

Advertisement

OLED और अन्य डिस्प्ले तकनीकों का उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में होता है। यहाँ इसकी एक विस्तृत जानकारी दी जा रही है

OLED (ओर्गेनिक लाइट-एमिटिंग डायोड)

Advertisement
  • स्मार्टफोन और टैबलेट्स: OLED स्क्रीन्स का उपयोग उच्च-गुणवत्ता वाले स्मार्टफोन्स और टैबलेट्स में किया जाता है, जिससे बेहतर रंग संतृप्ति और काले रंग की गहराई प्राप्त होती है।
  • टेलीविज़न: OLED तकनीकी टेलीविज़न में भी इस्तेमाल की जाती है, जिससे अधिक विविधता और तेजस्विता प्राप्त होती है।
  • वियरेबल डिवाइसेज: स्मार्टवॉचेज और फिटनेस ट्रैकर्स में भी OLED स्क्रीन्स का प्रयोग होता है।

LED (लाइट-एमिटिंग डायोड)

  • प्रकाश स्रोत: LED बल्ब और लैंप्स में इस्तेमाल होते हैं, जो ऊर्जा कुशल होते हैं।
  • सिग्नलिंग और संकेतन: ट्रैफिक लाइट्स, विज्ञापन बोर्ड, और वाहनों की लाइटिंग में LED का उपयोग होता है।

LCD (लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले)

  • कंप्यूटर मॉनिटर्स और लैपटॉप्स: LCD स्क्रीन्स का प्रयोग विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर मॉनिटर्स और लैपटॉप्स में होता है।
  • घड़ियाँ और कैलकुलेटर्स: डिजिटल घड़ियों और कैलकुलेटर्स में भी LCD डिस्प्ले का उपयोग होता है।

AMOLED (एक्टिव-मैट्रिक्स ऑर्गेनिक लाइट-एमिटिंग डायोड)

  • हाई-एंड स्मार्टफोन्स: AMOLED डिस्प्ले विशेष रूप से प्रीमियम स्मार्टफोन्स में उपयोग किए जाते हैं, जो अधिक विविध और तीव्र रंग प्रदान करते हैं।
  • वियरेबल टेक्नोलॉजी: AMOLED डिस्प्ले का इस्तेमाल विभिन्न वियरेबल डिवाइसेज में भी होता है।

विशेषताएँ/तकनीक

OLED

AMOLED

Advertisement
LED

LCD

पूर्ण नाम

Advertisement
Organic Light Emitting Diode Active Matrix Organic Light Emitting Diode Light Emitting Diode Liquid Crystal Display

प्रकाश स्रोत

स्वयं प्रकाश उत्सर्जक पिक्सल स्वयं प्रकाश उत्सर्जक पिक्सल बैकलाइट (आमतौर पर LED) बैकलाइट (CCFL या LED)

कंट्रास्ट

Advertisement
उच्च (अनंत के करीब) उच्च (अनंत के करीब) मध्यम से उच्च

मध्यम

रंग सटीकता

Advertisement

उत्कृष्ट

उत्कृष्ट अच्छी अच्छी से मध्यम

बैटरी दक्षता

Advertisement

अच्छी

बहुत अच्छी अच्छी मध्यम

देखने का कोण

Advertisement

उत्कृष्ट

उत्कृष्ट अच्छा

सीमित

Advertisement

जीवनकाल

कम से मध्यम (बर्न-इन की समस्या)

कम से मध्यम (बर्न-इन की समस्या)

Advertisement

लंबा

लंबा

Advertisement

लागत

अधिक

Advertisement

अधिक

मध्यम

Advertisement

कम से मध्यम

उपयोग प्रीमियम टीवी, स्मार्टफोन, उच्च-अंत उपकरण हाई-एंड स्मार्टफोन्स, स्मार्ट वॉचेज, उच्च-अंत उपकरण टीवी, मॉनिटर्स, विज्ञापन डिस्प्ले

सामान्य उपयोग के टीवी, मॉनिटर्स, बजट उपकरण

Advertisement

अंत में आर्टिकल को समाप्त करने से पहले मैं आपको यहीं कहूंगा की अमोलेड या ओलेड डिस्प्ले बाकी डिस्प्ले से बहुत ही ज्यादा अच्छा है। अगर मैं खुल कर बताऊँ तो मजा आ जायेगा। इसलिए जरुर एक बार अगर आपका बजट बन सकता हैं इनके लिए तो पैसे न बचाये इनसे बने प्रोडक्ट जरूर लें।

Advertisement